भारत की संसद करती है लोकतंत्र और संविधान की रक्षा-सांसदों के निलंबन को लेकर इंडिया गठबंधन ने किया विरोध प्रदर्शन-कलेक्ट्रेट में एडीएम को सौंपा राष्ट्रपति के नाम संबोधित पत्रक

0
23
  • चंदौली : लोकसभा व राज्यसभा के 142 सांसदों के निलंबन को लेकर इंडिया गठबंधन की ओर से शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया गया। इसमें सपा, कम्युनिस्ट पार्टी व आप के कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। सांसदों के निलंबन को अलोकतांत्रिक करार देते हुए राष्ट्रपति के नाम संबोधित पत्रक एडीएम अभय पाण्डेय को सौंपा।समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद रामकिशुन यादव ने कहा देश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। संविधान को खत्म किया जा रहा है। लोकतंत्र और संविधान की रक्षा करने का काम भारत की संसद करती है। सरकार के इशारे पर सांसदों को निलंबित किया जा रहा है। इससे बड़ा लोकतांत्रिक संकट देश में नहीं हो सकता। सरकार के फैसलों के खिलाफ जनाक्रोश बढ़ रहा है। 2024 के चुनाव में इसका परिणाम देखने को मिलेगा।पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू ने कहा कि कार्यकर्ता उनके मंसूबे कामयाब नहीं होने देंगे। सत्ताधारी दल लोकतंत्र का गला घोंट रहे हैं। सवाल उठाने पर निलंबन और बाहर कर दिया जाता है।आप जिलाध्यक्ष संतोष पाठक ने कहा कि मोदी सरकार लोकतंत्र विरोधी है। जब कोई नेता संसद में आवाज उठता है तो उन्हें जेल भेज दिया जाता है। सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग करती है।समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर, चंद्र शेखर यादव, चकरू यादव, संजय सोनकर, अयूब खान गुड्डू, लालचंद सिंह, शशिकांत, श्रवण कुशवाहा, अनिल पासवान, गुलाबचंद्र सहित इंडिया गठबंधन के अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here