लुटेरी दुल्हन के गिराेह का राजफास, पुलिस ने किया गिरफ्तार-शादी के बाद कपड़ा गहना लेकर महिला हुई थी फरार-गैर प्रांत से शादी ना होने वाले युवक बन रहे थे शिकार

0
52

चंदौली : सदर कोतवाली पुलिस ने गुरुवार को लुटेरी दुल्हन के गैंग का राजफास कर दिया। दुल्हन के साथ उसके गैंग के सदस्य भी पुलिस की गिरफ्त में आ गए हैं। गैंग की ओर से गैर प्रांत से शादी नहीं होने वाले युवकों को अपना शिकार बनाया जा रहा था। पुलिस लाइन में अपर पुलिस अधीक्षक सदर विनय सिंह ने मीडिया के सामने जानकारी दी। गिरफ्तार आरोपितों में संजय राम कस्बा शहाबगंज, चंदौली, सुमन सोनकर सूजाबाद डोमरी थाना रामनगर वाराणसी, धर्मेंद्र राम शबूआ थाना नंदगंज गाजीपुर व अर्जुन राम झांसी थाना व जिला चंदौली के निवासी बताए गए हैं।दरअसल बुधवार को सदर कोतवाली में एक प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ कि संजय सिंह पुत्र गोपाल सिंह निवासी मई तहसील नदवई जिला भरतपुर (राजस्थान) थाना लखनपुर का मूलवासी है। प्रार्थी की शादी नहीं हुई थी। जिससे शादी के लिए कुछ लोगों ने वार्ता किया और चंदौली निवासी सोनू ने संजय सिंह को शादी के लिए बुलाया था। संजय अपने भाई भूपेंद्र व भाभी पूनम पत्नी सूरज के साथ शादी के लिए चंदौली आया था। सोनू व उसके साथी राजू कृष्णा ने संजय की शादी एक महिला सुमन सोनकर पुत्री बच्चन सोनकर निवासी सूजाबाद डोमरी थाना रामनगर वाराणसी से भारत रेस्टोरेंट से सोनू व उसके साथी राजू कृष्णा के सामने कराई। जब 26 दिसंबर को संजय सुमन सोनकर को अपने साथ लेकर अपने गांव जा रहा था तो रास्ते में सुमन सोनकर ने संजय के बारह हजार रुपये जो बैग में रखा था, चुराकर भाग गई। संजय ने जब सोनू को इस बाबत फोन किया तो जानकारी हुई कि उसके साथ शादी के नाम पर धोखाधड़ी हुई है। कोतवाली पुलिस 28 दिसंबर को वांछित आरोपितों की तलाश में सकलडीहा तिराहा ओवरब्रिज के पास चेकिंग कर रही थी कि वादी संजय सिंह ने आकर बताया की मुकदमे में शामिल दुल्हन सुमन सोनकर व उसके साथी संजय राम व धर्मेंद्र राम व अर्जुन राम चंदौली रेलवे स्टेशन के बगल में हाईवे के किनारे पोखरे पर मंदिर के पास इक्ट्ठा हुए हैं और कहीं भागने के फिराक में वाहन का इंतजार कर रहे हैं। पुलिस ने आरोपितों को मौके से पकड़ लिया।

-शादी कराने के नाम पर देते थे लालचआरोपितों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि हम लोग आपस में मिलकर षड़यंत्र रच कर पश्चिमी राजस्थान आदि स्थानों से जिसकी शादी नहीं होती है उनको शादी कराने के नाम पर लड़कों व घरवालों से बात कर शादी कराने का लालच देकर उनसे मोटी रकम लेते हैं। शादी कराकर लड़की की विदाई कर दी जाती है और रास्ते में लड़की को छल पूर्वक उतार कर लड़के वालों को भगा दिया जाता है। पैसे को हम लोग आपस में बाट लेते हैं। पुलिस टीम में उप निरीक्षक रावेंद्र सिंह, राजेश सिंह, हरेंद्र यादव आदि शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here