मंत्री, भारी उद्योग, डॉ महेंद्र नाथ पांडेय ने निर्माणाधीन फिश मंडी का किया निरीक्षण, दिये संबंधित को आवश्यक निर्देश

0
64

निजी भूमि पर मछली उत्पादन के लिए किसानों को किया जाय प्रोत्साहित

मत्स्य पालन के लिये अधिकाधिक लोगों को करें प्रोत्साहित

धान गेहूं के अलावा मत्स्य पालन के क्षेत्र में लोगों को करे जागरूक, सरकार दे रही भारी छूट

मछली की दुकान आवंटन में पारदर्शिता के साथ करें कार्य

महराजगंज के तर्ज पर चंदौली को मत्स्य उत्पादन के क्षेत्र से भी जाना जाय मा0 मंत्री

जिले में मत्स्य पालन की दिशा में अपार संभावनाएं मा0 मंत्री

चंदौली में बन रहा है सबसे बड़ा फिश मार्केट, मछली पालकों का बढ़ेगा रोजगार

फिश मार्केट का जनता के लिए बड़ी सौगात

*जिला अस्पताल में निर्माणाधीन मेडिकल कालेज के निर्माण कार्य को देखकर पूरी गुणवत्ता व तय मानकों में कार्य को पूर्ण करने के निर्देश संबंधित कार्यदायी संस्था को दिये।

चंदौली भारी उद्योग, भारत सरकार, स्थानीय सांसद डॉ0 महेंद्र नाथ पाण्डेय द्वारा नवीन मंडी स्थित प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत अल्ट्रा मॉडर्न फिश मंडी का निरीक्षण कर, निर्माण कार्य की गुणवत्ता परखी।

उन्होंने बताया कि मछली पालकों और मछली व्यापारियों के प्रशिक्षण के लिए एक कॉन्फ्रेंस हाल भी होगा. जहां समय-समय पर मछली पालन से संबंधित जानकारियां दी जाएंगी और मत्स्य पालकों को नई तकनीक की जानकारी दी जाएगी.इस अल्ट्रा मॉडर्न बिल्डिंग में मछली से संबंधित अन्य कई सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

फिश मंडी से मछली के आयात-निर्यात बढने की संभावना

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना पीएम मोदी की बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है और उत्तर भारत की यह पहली ऐसी मंडी है जो अल्ट्रा मॉडर्न फिश मंडी है. यह पूरी मंडी पूरी तरह से वातानुकूलित होगी. मछली एक पेरिशेबल आइटम है और तालाब से निकलने के बाद बहुत जल्दी ही खराब होने लगता है. तो ऐसी स्थिति से बचने के लिए यहां पर एक कोल्ड स्टोरेज भी रहेगा. इस फिश मंडी के बनने से यहां मछली के आयात और निर्यात की संभावना बढ़ेगी और लोगों के आय में भी अच्छी खासी बढ़ोतरी होगी।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे, सहायक निदेशक मत्स्य अधिकारी,मंडी सचिव सहित अन्य संबंधित अधिकारी गण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here