न्यायालय मुख्यालय निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष झन्मेजय सिंह ने कहा कि प्रशासन अपनी नाकामी छुपाने के लिए आंदोलन को विधि विरुद्ध तरीकों से कुचलना चाहता है।

0
24

चंदौली। न्यायालय मुख्यालय निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष झन्मेजय सिंह ने कहा कि प्रशासन अपनी नाकामी छुपाने के लिए आंदोलन को विधि विरुद्ध तरीकों तरीके से कुचलना चाहता है। आरोप लगाया कि मेरे ऊपर फर्जी मुकदमा करने का भी प्रयास किया जा रहा है। मेरे व मेरे परिवार की जान को खतरा है। मेरे या मेरे परिवार के साथ कुछ भी होता है तो इसके लिए सीधे जिम्मेदार सांसद और विधायक होंगे। उन्होंने रविवार को डिस्ट्रिक्ट डेमोक्रेटिक बारे में प्रेस वार्ता के दौरान यह बात कही।उन्होंने कहा कि बार एसोसिएशन ने एक महीने का समय देकर धरना और प्रदर्शन स्थगित किया था। जनरल बॉडी की मीटिंग में यह कहा गया कि अगर संघर्ष समिति या कोई अधिवक्ता इस दौरान अपना आंदोलन शांति पूर्वक सांकेतिक रूप से चलाना चाहता है, तो उसको मना नहीं किया जाएगा, क्योंकि संघर्ष समिति ने हर बार आंदोलन किया है। और हर बार उसे झूठा आश्वासन देकर के धोखा दिया गया है। संघर्ष समिति एक महीने तक संकेतिक धरना संवैधानिक तरीके से बिना लाउडस्पीकर का प्रयोग किए बिना कोई हो हल्ला किए संविधान से प्रदत्त अधिकारों के अंतर्गत चला रही थी। कहा कि आगामी 6 सितंबर 2023 को वह पैदल चंदौली से चलकर दिल्ली जाएंगे और अपने जनपद की पीड़ा को माननीय प्रधानमंत्री से बताएंगे। इससे जनपद का विकास सुनिश्चित हो सके। आशंका जताते हुए उन्होंने बताया कि हो सकता है कि रास्ते में मेरा रोड एक्सीडेंट करा दिया जाए तो वह एक्सीडेंट ना मानते हुए हत्या मानी जाए। इसके लिए जनप्रतिनिधि ही जिम्मेदार होंगे। उन्होंने समस्त क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों एवं जिला प्रशासन से अनुरोध भी किया कि बार की ओऱ से दिए गए समय अवधि के भीतर पहल कर न्यायालय का निर्माण सुनिश्चित कराएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here