ग्राम चौपाल में एक वर्ष में आईं 39365 शिकायतें, 35682 का निस्तारणग्राम चौपाल के जरिए जरूरतमंदों की समस्याओं का कराया गया निदान: विधायक

0
5

ग्राम चौपाल के एक वर्ष पूर्ण होने पर मेले का आयोजन-ग्राम चौपालों के प्रगति विवरण की डीएम ने दी जानकारी

चंदौली : शासन के निर्देश पर ग्राम चौपाल गांव की समस्या गांव में समाधान कार्यक्रम के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में शनिवार को मेले का आयोजन किया गया। विधायक पीडीडीयू नगर रमेश जायसवाल ने द्वीप प्रज्ज्वलित कर मेले का शुभारंभ किया। ग्राम चौपाल में एक वर्ष में आईं 39365 शिकायतों में 35682 का निस्तारण किया गया। जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे ने एक वर्ष में कराए गए कार्यों की जानकारी प्रेसवार्ता के माध्यम से मीडिया को दी।विधायक रमेश जायसवाल ने कहा कि सभी अधिकारी व ग्राम प्रधानों की ओर से सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ पात्र लोगों को दिलाकर कार्यक्रम को सफल बनाने का कार्य किया गया है। सभी ग्राम पंचायतों में विकसित भारत संकल्प यात्रा व ग्राम चौपाल का आयोजन किया जा रहा है। इसमें केंद्र/प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को दिया जा रहा है। साथ ही उनकी समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण कराया जा रहा है। कहा कि गांव का विकास तभी संभव है जब गांव के अंतिम व्याक्ति को योजनाओं का लाभ मिल सके।जिलाधिकारी निखिल टी. फुंडे ने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप ग्राम चौपाल का आयोजन कर लोगों की समस्याओं का समाधान कराया जा रहा है। जो पात्र लाभार्थी योजनाओं से वंचित रह गए हैं उन्हें योजना का लाभ दिलाकर उनके जीवन स्तर में सुधार लाने का काम किया जा रहा है। कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा ग्राम चौपाल का एक विस्तृत रूप है। इसके तहत लोगों की समस्याओं का समाधान कर उन्हें योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। ग्राम चौपाल में गांव की समस्या गांव में समाधान को चरितार्थ करते हुए अधिक से अधिक समस्याओं का समाधान गांव में ही कराया गया।

-छह जनवरी से 29 दिसंबर 2023 तक कुल संपन्न ग्राम चौपालों की संख्या 722 रही। उपस्थित ब्लाक स्तरीय अधिकारी/कर्मचारियों की संख्या 4495 रही। एक वर्ष के दौरान ग्राम चौपाल में कुल 144852 ग्रामीणों ने प्रतिभाग किया। प्राप्त शिकायतों की संख्या 39365 रही। इसमें 35862 शिकायतों को निस्तारित किया गया।

-मेले का किया गया आयोजनकलेक्ट्रेट परिसर में मेले के माध्यम से विभिन्न विभागों की लाभार्थीपरक योजनाओं के स्टाल लगाकर योजनाओं के उत्पादों का प्रदर्शन किया गया। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, निराश्रित महिला पेंशन योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना, एक जनपद एक उत्पाद, टूल किट प्रशिक्षण योजना, वृद्धावस्था पेंशन योजना, कन्या विवाह सहायता योजना मातृत्व शिशु व बालिका मदद योजना, दिव्यांगजन पेंशन योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना, मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, खाद्यान्न वितरण योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना सहित अन्य विभागों के स्टाल लगाए गए थे।कार्यक्रम के दौरान विभिन्न विभागों के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किया गया। मुख्य विकास अधिकारी डा एसएन श्रीवास्तव, डीसीएनआरएलएम, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला ग्राम उद्योग अधिकारी, अग्रणी बैंक प्रबंधक, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here