स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पैथोलाजी व निजी चिकित्सालय पर की छापेमारी

0
214

  1. गाइडलाइन के विपरीत मिली जांच में सभी दुकाने, अंतिम चेतावनी
  2. छापेमारी की कार्रवाई से मची खलबली, बंद हुए अवैध चिकित्सालय

चंदौली : स्वास्थ्य विभाग की गठित टीम ने सोमवार को नगर के आधा दर्जन पैथोलाजी सेंटर व निजी चिकित्सालयों पर छापेमारी की। जांच में सभी सेंटर व चिकित्सालय गाइडलाइन के विपरीत मिले। टीम ने गाइडलाइन के विपरीत संचालित हो रहे सेंटरों व चिकित्सालय को बंद कराकर संचालकों को अंतिम चेतावनी दी।
जिला प्रशासन के निर्देश पर एडिशनल सीएमओ डा. अनूप कुमार व प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा. विकास सिन्हा के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने नगर स्थित आकांक्षा चाइल्ड केयर सेंटर, प्रकाश पैथोलाजी व कलेक्शन सेंटर पर छापेमारी के दौरान जांच में संस्थान का पंजीकरण मिला, लेकिन पंजीकृत चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ नहीं मिले। बाबा कीनाराम चाइल्ड केयर सेंटर पर छापेमारी करते हुए टीम ने पाया कि संस्थान का सिर्फ ओपीडी का रजिस्ट्रेशन है जबकि आधा दर्जन मरीजों को भर्ती किया गया था। शास्वत पैथोलाजी सेंटर बगैर पंजीकरण के संचालित होता मिला। टीम आभा डायग्नोस्टिक सेंटर, मां मुंडेश्वरी हास्पिटल पर छापेमारी की जहां ताला बंद मिला। छापेमारी की कार्रवाई से बगैर पंजीकरण के संचालित होने वाले अन्य दर्जनों पैथोलाजी व निजी चिकित्सालय धड़ाधड़ बंद हो गए। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापेमारी की कार्रवाई के दौरान जांचोपरांत अवैध ढंग से संचालित होते मिले पैथोलाजी और निजी चिकित्सालयों के संचालकों को अंतिम चेतावनी देते हुए बंद करा दिया। चेतावनी दिया कि अगली बार जांच में प्रतिष्ठान संचालित होता मिला तो एफआइआर दर्ज कराने के साथ ही समान जब्ती की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। टीम में विनोद कुमार, अखिलेश कुमार यादव आदि स्वास्थ्य कर्मी शामिल थे।वहीं नियमताबाद में तीन हास्पिटलों में छापा मारा गया। छापेमारी में रिया चाइल्ड केयर, नियमताबाद को कई बार नोटिस दी गई थी, लेकिन नोटिस की अनदेखी कर अवैध रूप से हास्पिटल चला रहे थे। उनके हास्पिटल को सील कर दिया गया। वहीं विवेकानंद हास्पिटल के स्टाफ टीम को देखकर फरार हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here